Sunday, 30 July 2017

सेल्फी के चक्कर में मरते भारतीय: 64 फीसदी सडक पार करते फोन पर करते हैं बात

भारतीय ट्रैफिक के नियमों को लेकर कितने लापरवाह हैं, इसका उत्तर इस सर्वे से मिलता है. करीब 64 फीसदी लोग सडक पार करते समय नियमित रूप से मोबाइल पर बात करते हैं. 60 फीसदी दोपहिया वाहन चलाते हुए मोबाइल पर बात करते हैं. सैमसंग के द्वारा सेफ इंडिया अभियान के तहत 12 शहरों में किये गये सर्वे में ये बात सामने आयी है. इस अभियान का उद्देश्य लोगों को सडक के नियमों के पालन के लिए जागरूक करना है. 'सेफ इंडिया’ अभियान फिल्म को बहुत अच्छा रिस्पांस मिला है, केवल 32 दिनों में यूट्यूब पर इसे 10 करोड़ से अधिक बार देखा जा चुका है. ‘सेफ इंडिया’ अभियान की शुरुआत हाल ही में केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग एवं जहाजरानी मंत्री नितिन गडकरी ने की थी.
Pic Courtesy: Google Search 

सैमसंग की इस सर्वे रिपोर्ट में बताया गया है कि 14 फीसदी भारतीय रोड पार करते हुए सेल्फी लेते हैं. 33 फीसदी ड्राईवर ड्राइविंग करते हुए मैसेज करते हैं. 18 फीसदी मोबाइल यूजर अपने बॉस की कॉल का तुरंत जवाब देते हैं भले ही वे रोड क्रास ही क्यों न कर रहें हो.
सरकारी आंकड़ों के अनुसार, भारत में सड़क दुर्घटना के चलते हर चार मिनट में एक मौत हो जाती है. करनेगी मेलो यूनिवर्सिटी, इंद्रप्रस्थ इंस्टीट्यूट ऑफ इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी, दिल्ली एवं नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, तिरुचिरापल्ली की संयुक्त रिपोर्ट के अनुसार दुनियाभर में सबसे ज्यादा रोड एक्सीडेंट भारत में होते हैं, बल्कि दुनिया भर में सेल्फी लेने के चलते होने वाली कुल मौतों में से अकेले 50 प्रतिशत भारत में होती हैं.

No comments:

Post a Comment