Monday, 26 August 2019

रिलेशनशिप सिर्फ औपचारिकता क्यों हो गई?


                   ब्रेकअप कितना आसान, कितना कठिन
रिलेशनशिप एक ऐसा शब्द है जिससे हर कोई जिन्दगी में दो चार होता ही है. रिलेशन बनाना तो आसान होता है लेकिन उनको निभाना और निभा के साथ संतुष्ट होना बिल्कुल अलग बात है. रोज कई रिलेशनशिप ब्रेकअप में बदलती हैं, इसका कारण आपसी सैटिस्फैक्शन की कमी होता है. लेकिन रिलेशनशिप का एक दूसरा आयाम भी है जब कोई व्यक्ति अपने पार्टनर की खुशी के लिए बिना संतुष्टि रिलेशनशिप को बनाये रखता है.
पर्सनालिटी और सोशल साइकोलॉजी के जर्नल में प्रकाशित एक स्टडी के अनुसार ज्यादातर लोग अपने पार्टनर के कारण बिना इच्छा भी रिलेशनशिप में बने रहते हैं, जबकि उनका पार्टनर उम्मीद के अनुसार रोमांटिक नहीं है. काफी चैलेंजिंग परिस्थितियों के बावजूद भी लोग खुद को किसी रिलेशनशिप से अलग नहीं कर पाते हैं. वे अपने पार्टनर के साथ ब्रेकअप नहीं करते हैं क्योंकि उनको लगता है ऐसा करना उनके साथी के लिए ठीक नहीं होगा.
इस स्टडी की ऑथर सामंथा जोएल के अनुसार लोगों को लगता है कि उनका पार्टनर शायद उनसे ब्रेकअप नहीं चाहता है, इसीलिए वे ब्रेकअप नहीं कर पाते हैं.
स्टडी के अनुसार रिलेशनशिप में ज्यादा निर्भर लोग अपने पार्टनर पर ज्यादा विश्वास करते थे और इसीलिए ब्रेकअप पर बात नहीं कर पाते थे. एक्सपर्ट की राय भी इस पर काफी मिलती जुलती है उनके अनुसार प्यार करने वाले प्रेमी या प्रेमिका के लिए ब्रेकअप करना आसान नहीं होता है, एक पार्टनर रिलेशनशिप में खुश है और दूसरा नाखुश तो भो ब्रेकअप आसान नहीं होता है.
(आशुतोष पाण्डेय)

No comments:

Post a Comment