Thursday, 21 November 2019

शिवसेना की किसान कर्जमाफी घोषणा: मजबूरी या इच्छा



जैसे ही शिवसेना के नेतृत्व में महाराष्ट्र में सरकार बनना तय हुआ वैसे ही घोषणाएं भी शुरू हो गयी हैं. महाराष्ट्र में महाविकास गठबंधन की सरकार बनेगी जिसमें उद्धव ठाकरे मुख्यमंत्री होंगे. एनसीपी और कांग्रेस के सहयोग से बेमेल गठबंधन की सरकार को बनते एक महीने का समय लग गया. शिवसेना एनसीपी और कांग्रेस के साथ कॉमन मिनिमम प्रोग्राम के तहत सरकार चलाएंगे. हमारे सूत्रों के मुताबिक़ महाराष्ट्र में मंत्रिमंडल की पहली बैठक में किसानों की कर्जमाफी की घोषणा हो सकती है. 
कांग्रेस और एनसीपी के कॉमन मिनिमम प्रोग्राम का यह पहला मुद्दा भी है. शिवसेना सूत्रों के मुताबिक अभी तक के आकलन के अनुसार तकरीबन 35 हजार करोड़ रुपये के किसानों के कर्जमाफ किए जाएंगे. अगर इससे भी ज्यादा रकम किसानों की कर्जा माफी के लिए खर्च करनी पड़े तो सरकार उसके लिए पूरी तरह से तैयार है. सरकार का सबसे ज्यादा फोकस गाँव, गरीबी और किसान पर रहेगा.
सूत्रों के मुताबिक न्यूनतम साझा कार्यक्रम लगभग तैयार है. तीनों ही दल एक दूसरे के वैचारिक धरातल का सम्मान करते हुए आगे बढ़ेंगे. न तो कट्टर हिंदुत्व को बढ़ावा दिया जाएगा और न ही मुस्लिम तुष्टिकरण को बढ़ावा दिया जाएगा. इसके लिए बाकायदा 12 सदस्यीय को-ऑर्डिनेशन कमेटी का गठन किया जाएगा. इस को-ऑर्डिनेशन कमेटी के ऊपर सुपर कमेटी होगी. इस कमेटी में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे और एनसीपी के प्रमुख शरद पवार होंगे.

No comments:

Post a Comment